Wednesday, July 24th, 2024

राजस्थान की इस बार वित्त मंत्री महिला हैं तो ख़याल भी ज्यादा रहेगा : दीया कुमारी

जयपुर.

प्रदेश की भजनलाल सरकार आने वाले बजट की तैयारियों में जोर-शोर से जुटी हुई है। मुख्यमंत्री कार्यालय में बजट पूर्व संवाद बैठकें आयोजित की जा रही हैं। गुरुवार को यहां महिला प्रतिनिधियों से बजट को लेकर चर्चा हुई। इसमें वित्त मंत्री दीया कुमारी ने महिला प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस बार वित्त मंत्री महिला है। इसलिए आपका विशेष ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बजट में भी और आने वाले बजट में तथा मेरे विभाग में भी आने वाले जो भी काम होंगे, उनमें आप लोगों का ध्यान रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि महिलाओं की 50 प्रतिशत से अधिक आबादी है, जिनका समग्र विकास किए जाने के लिए राजस्थान और केंद्र सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि इस बार राज्य के बजट में और आगे भी सभी के सुझावों को शामिल करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने तृतीय श्रेणी की शिक्षकों की भर्ती में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देकर महिला सशक्तिकरण की एक महत्वपूर्ण पहल की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश और प्रदेश की महिलाओं को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री के विजन अनुसार, राज्य में महिलाओं का सशक्त योजनाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से उत्थान करने के लिए राज्य सरकार काम कर रही है। उप-मुख्यमंत्री ने महिला, प्रोफेशनल्स एवं प्रतिभाशाली छात्रों के प्रतिनिधियों का आवाहन किया कि जिस तरह वे राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं और कार्यक्रमों से अवगत हैं। इस प्रकार ग्रामीण क्षेत्र और दूरदराज की महिलाओं तक राज्य सरकार की बेहतरीन योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी को पहुंचाए। इससे दूरस्त और ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं भी लाभान्वित हो सकेंगे, जिससे प्रदेश का तीव्र गति से विकास होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा द्वारा लगातार प्री-बजट बैठकें अलग-अलग क्षेत्रों के प्रतिनिधियों के साथ की जा रही हैं। यह मुझे लगता है कि पहली बार हुआ है। एक सहभागी सरकार का यह बहुत बड़ा कदम है। मुझे लगता है बहुत ही अच्छा उदाहरण है, जो कि राजस्थान में हुआ है। उन्होंने आश्वासन दिया कि आप लोगों के जितने भी सुझाव आए हैं, उन्हें बजट में शामिल करने का पूरा प्रयास किया जाएगा।

विरासत संरक्षण और आधुनिक सुविधाओं से बढ़ेगा राजस्थान में पर्यटन : दीया कुमारी
उप मुख्यमंत्री पर्यटन दीया कुमारी ने कहा है कि पर्यटन के हेरिटेज स्वरूप और आधुनिक सुविधाओं से राजस्थान में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने राजस्थान प्रदेश को पर्यटन के क्षेत्र में देश और दुनिया में अग्रणी राज्य बनाने के लिए संभावित उपायों पर कार्य किए जाने के लिए विभाग को निर्देश दिए हैं। दीया कुमारी ने गुरुवार को पर्यटन भवन में पर्यटन विभाग की समीक्षा बैठक में प्रमुख शासन सचिव पर्यटन विभाग गायत्री राठौड़, आरटीडीसी प्रबंध निदेशक अनुपमा जोरवाल, निदेशक पर्यटन विभाग डॉ. रश्मि शर्मा सहित विभागीय अधिकारियों की उपस्थित में निर्देश दिए। उन्होंने साथ ही अल्बर्ट हॉल में म्यूजियम को आधुनिक दृष्टिकोण से और बेहतर बनाने के प्रस्ताव तैयार करने हेतु तथा खासाकोठी का पुनरुद्धार और उसके नवीन स्वरूप के लिए कार्य योजना बनाने हेतु पर्यटन विभाग को निर्देशित किया है। उन्होंने प्रदेश में पर्यटन की असीम संभावनाओं की दृष्टि से नाइट टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए सुविधाएं विकसित करने तथा इस हेतु एक समग्र कार्य योजना हेतु निर्देशित किया। इसके साथ ही उन्होंने जयपुर शहर तथा प्रदेश के अन्य पर्यटक स्थानों के हेरिटेज स्वरूप को कायम रखते हुए आधुनिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने हेतु निर्देशित किया। पर्यटक स्थलों के हेरिटेज स्वरूप को बनाए रखते हुए आधुनिक पर्यटन सुविधाओं का विकास करने के निर्देश दिए।

उन्होंने प्रदेश में आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए जयपुर सहित सभी पर्यटन शहरों में साइनेज  बोर्ड लगाने के लिए निर्देश दिए। उप मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग और आरटीडीसी की साइट्स पर ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सौर ऊर्जा की ओर अग्रसर होने व सोलर पैनल लगाने जैसी उपाय किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने इस वर्ष की पर्यटन गतिविधियों का पर्यटन कैलेंडर तैयार करने हेतु विभाग को निर्देशित किया। इसके साथ ही उन्होंने विभागीय कार्यों को गति प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय लंबित प्रकरणों का त्वरित निस्तारण किए जाने के भी निर्देश दिए।

Source : Agency

आपकी राय

7 + 1 =

पाठको की राय