Monday, April 22nd, 2024

ऐसे दाल बाटी चूरमा ऐसे बनाएंगे तो सब तारीफ करेंगे

दाल-बाटी रेसिपी (Dal Bati Recipe): दाल-बाटी (Dal Bati) का नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है. मध्यप्रदेश के मालवा इलाके में दाल-बाटी खासतौर पर बनाई जाती है. इस डिश को जितना राजसथान में पसंद किया जाता है, उतना ही मालवा क्षेत्र (Malwa) की ये डिश शान है. कहीं कोई महफिल जमने की बात हो तो दाल-बाटी की पार्टी अपने आप ही हो जाती है. ये डिश जितनी पारंपरिक है उतनी ही लाजवाब भी है. सामान्य डिशेस की तुलना में दाल-बाटी को बनाने में ज्यादा वक्त लगता है, लेकिन जब यह बनकर तैयार हो जाती है और फिर इसका स्वाद लिया जाता है तो उसका मजा ही कुछ अलग होता है.

दाल-बाटी को कई जगहों पर बनाया जाता है, अलग-अलग जगहों पर इसके नाम में भी बदलाव हो जाता है. हालांकि मालवा की दाल-बाटी का जो स्वाद ले लेता है वह उसे भूल नहीं पाता है. दाल-बाटी बनाने के तरीके में थोड़ा सा बदलाव कर और कुछ इन्ग्रेडिएंट्स को चेंज करने पर दाल-बाफला भी तैयार किया जाता है. यह भी इस इलाके की काफी प्रसिद्ध डिश है.

दाल-बाटी बनाने के लिए सामग्री
गेंहू आटा – 500 ग्राम
सूजी (रवा) – 125 ग्राम
देसी घी – 150 ग्राम
बेकिंग सोड़ा – 1/2 टी स्पून
अजवायन – 1/2 टी स्पून
नमक – स्वादानुसार

दाल-बाटी बनाने का तरीका
बाटी बनाने के लिए सबसे पहले हम एक गहरे तले वाला बड़ा बर्तन लें. अब उसमें गेंहूं का आटा और सूजी को मिला दें. (जिन्हें मक्का पसंद है वे बाटी के आटे में थोड़ा मक्के का आटा भी मिला सकते हैं). अब इसमें 3 टेबल स्पून देसी घी डालकर आटे में अच्छी तरह से मिला दें. फिर इसमें अजवायन और स्वादनुसार नमक मिलाएं. जब यह मिश्रण अच्छी तरह से मिल जाए तो गुनगुने पानी से इसे गूंथ लें. आटे को थोड़ा सख्त गूंथे जैसा आमतौर पर पुड़ी के आटे के लिए किया जाता है. अब गुंथे हुए आटे को 20-25 मिनट के लिए ढंककर रख दें ताकि आटा फूलकर अच्छी तरह से सैट हो जाए.

Source : Agency

आपकी राय

14 + 12 =

पाठको की राय